Close

Pankaj Chavan - The Birthday Boy

जिंदगी में कुछ लोग ऐसे होते है जिनका बस हमारी जिंदगी मे होना भी हमारी पेहचान होती है,

बस इतना ही नही तो इन जैसे लोगों का किसी शेहर में होना उस शेहर की भी शान होती है!

छब्बीस सितंबर के दिन चव्हाण परिवार के घर का निवारा लेके संसार में एन्ट्री मारे सातारा के पंकज सर ऐसे चंद लोगोमें से ही एक है,
आज की तारीख में सातारा के कला एवं मनोरंजन क्षेत्र मे इन्होने दिया योगदान बस अदभूत है!

ये शानोशौकत इन चंद लोगों में से कुछ गिनेचुने लोगों को मिल जाती है विरासत मे,
पर पंकज जैसे लोग अपनी कला को अनगीनत कोशिशोकी जोड देकर इस मूकाम पे आते है जिंदगीमे!

इन्ही कोशिशो के दमपर पंकज सर ने उभारा है पीसीडीए का केंद्र सतारामें,
नृत्य कला के माध्यम से जुडी इस अकादमी के प्रती ढेर सारा प्यार है सातारावासीयों में!

आज के दौर मे प्रचलित नृत्य की हर एक कला का प्रशिक्षण पीसीडीए देती है,
डान्स मे माहीर कलाकारों को बडा स्टेज देने का जिम्मा भी ये उठाती है!

अपने विद्यार्थीयों को अधिकतम मार्गदर्शन मिले इस नाते इंडस्ट्री के कइयों को पंकज ने सातारा में है लाया,
पीसीडीसी में सतारीयन्स ने धर्मेश, राघव, सरोज, शक्ती जैसो का साया है पाया!

समर कॅम्प जैसे बडे छोटे इव्हेन्ट उपरके उपर लेनेवाले पंकज की हुनर का सही में परीचय तब हुआ था,
जब इसने सातारा में सातारा अवॉर्डस् जैसी सुंदर कल्पना को पेहली बार साकार किया था!

सबके दिलोमें बसने वाले 'चला हवा येऊ द्या' की पुरी टीम ने शाहूमंदिर में हंसी की आग लगा डाली थी,
बारिश की वजह से फंसे पेहले प्रयास को जिगरी पंकज ने दोबारा कर कुदरत को ही मात दे डाली थी!

सातारा आवाईड्स पर सोने की मूहर तब लगी जब कला के भगवान साक्षात बच्चन सहाब ने प्यारे पंकज को अपना मित्र माना,
बस कुछ कारण ओ आ ना सके पर बच्चनजी ने अपनी व्हॉइस ऑफ दि युनिव्हर्स वाली आवाज में पंकजजी एवं पुरे सातारा की जनता का अभिवादन किया!

बडे दिलवाले सातारा का नाम बडा कर उसे बडे स्टेज पे लाने का बडा प्रयास पंकज सर आप कर रहे,
इसी बहाने इतनी कम उम्र में जिंदगी के एक बडे मकाम की ओर जा रहे!

इतनी बडी हस्ती हमारी मित्र होना ही हमारे लिये बहोत बडी बात है,
अभिमान रहेगा इस बात का की पंकज जैसा इन्सान हाथ से हाथ मिलाके हमारे साथ है!

पंकज,
तेरा बॉस का स्पीकर साथ लेकर तू हमें योगा डान्स है सिखाता
तेरी लाडली 007 वाली रेड पोलो की सैर तेरे चुतीये दोस्तो को कराता
अनुप पशा साऱ्या सच्या पे आनंद की बरसात तू करता
नानु पवन उदय दादा के हर शब्द का मान तू रखता
पुष्कर बंटी सिद्धू किशोर के संग चाय के घुन्ट तू पिता
बडे सातारा का बडा स्टार हमारा पंकज, किला ग्रुप का लाडला है केहलाता!

पंकज सर,
मराठमोळा आपला अविष्कार त्यामुळे खरंतर शुभेच्छाही तुम्हाला मराठीतच लिहायला हव्या होत्या, पण काय करणार तुमच्या व्यक्तिमत्वाची रेंज एवढी मोठी की तुमच्या बऱ्याच आप्तेष्टांना आमच्या मराठीतून दिलेल्या शुभेच्छा कळल्याच नसत्या!
तुमच्या कलेची दखल पंकज सर फक्त सातारा-महाराष्ट्रापुरती सीमित न राहता अखंड भारतवर्षाने घ्यावी,
पीसीडीसी च्या विद्यार्थ्यांची पावले देशाच्या डान्स प्लॅटफॉर्मस वर थिरकावी,
तुमची आणि अर्थातच तुमचे मित्र, तुमचे शेहरवासी या नात्यांनी तुमच्यासोबत आमचीही देशभर कीर्ती व्हावी,
बघा तुमच्या एकमेकांना बरोबर घेऊन चालण्याच्या स्वभावाने तुमच्या वाढदिनी स्वतःला शुभेच्छा द्यायचीही स्फूर्ती नकळत आम्हाला मिळावी!!

सातारा पंचक्रोशीचे जणू राजकुमार व्यक्तिमत्व, पंकज चव्हाण डान्स ऍकॅडमी चे वन अँड ओन्ली मालक श्री पंकजजी चव्हाण सर यांना अखंड मित्रपरिवारातर्फे प्रकट दिनाच्या प्रचंड शुभेच्छा!!

शेवटी पवन स्टाईल एवढेच म्हणू की, "शेठ, आता तेवढं लग्नाचं बघा"

- D For Darshan

Add comment

Security code
Refresh

Loading...
Loading...